Thursday, May 23, 2024
HomeChhattisgarhजनजाति सुरक्षा मंच के कार्यशाला में...

जनजाति सुरक्षा मंच के कार्यशाला में पहुंचे CM साय, कहा – पिछली सरकार वोट बैंक के लिए कराती थी धर्मांतरण, बस्तर में मूलभूत सुविधाएं पहुंचाने भाजपा सरकार ने शुरू की है नेल्ला नार योजना

Banner Advertising
Banner Advertising

रायपुर ।  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय रायपुर के जैनम मानस भवन पहुंचे, जहां जनजाति सुरक्षा मंच अखिल भारतीय कार्यशाला में शामिल हुए. तीन दिवसीय अखिल भारतीय कार्यशाला का सीएम विष्णुदेव साय ने शुभारंभ किया. कार्यशाला में धर्मांतरण का मुद्दा उठा. वहीं जनजाति सुरक्षा मंच के पदाधिकारियों ने डिलिस्टिंग पर अपनी बात रखी. धर्मान्तरण करने वालों का आरक्षण समाप्त करने की बात भी कही.

जनजाति सुरक्षा मंच के कार्यशाला में सीएम साय ने कहा, छत्तीसगढ़ में 32 प्रतिशत अनुसूचित जनजाति की जनसंख्या है.
पांच सालों में धर्मांतरण जोरो पर था. रिपोर्ट करने वाले के ऊपर कार्यवाही होती थी. जो धर्मांतरण करते थे उन्हें थाने में बिठाकर चाय पिलाई जाती थी. पिछली सरकार में अफसर की शिकायत पर कार्यवाही नहीं की गई. पिछले सरकार धर्मांतरण वोट बैंक के लिए कराती थी. बस्तर के 5 जिले संवेदनशील हैं. यहां जनजाति के लोग ही रहते हैं, यहां मूलभूत सुविधा नहीं है. आज भी उन क्षेत्र के 14 हजार घरों में बिजली नहीं पहुंची है. हमारी सरकार आने के बाद नेल्ला नार योजना शुरू की है.साय ने कहा, सरकार नक्सलवाद के साथ लड़ रही है. गोली की बात करोगे तो जवाब सरकार देगी और बात करना चाहते है तो सरकार रास्ता निकालेगी. मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने कहा, पूरे देश में 12 करोड़ जनजाति वर्ग के लोग हैं. लगातार जनजातियों के सुरक्षा में काम कर रहे हैं. वनवासियों आदिवासियों की रक्षा करना जनजाति सुरक्षा मंच का कार्य है. जो व्यवस्था संविधान में एससी वर्ग के लिए है वही एसटी के लिए भी होनी चाहिए. जनजाति लोगों की भी यही मांग है. SC जैसी व्यवस्था ST के लिए भी हो. उन्हें जनजाति होने का लाभ न मिले. धर्मांतरित लोग इसका पुरजोर लाभ उठा रहे हैं. जनजातीय सुरक्षा मंच लगातार इस पर मांग उठा रही है. इस मामले में 28 लाख जनजाति लोगों ने हस्ताक्षर करके ज्ञापन राष्ट्रपति को पहले भी सौंपा है.

देश की जनता का विश्वास खो चुकी है कांग्रेस : सीएम
कांग्रेस की घोषणा पत्र को लेकर मुख्यमंत्री साय ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा, आपको लगता है कि कांग्रेस सरकार बनेगी..? “न नौमन तेल होगा ना राधा नाचेगी” यह कुछ भी कर ले. 2018 के विधानसभा चुनाव में 36 वादे किए थे. 5 साल में एक भी काम पूरा नहीं किया. विधानसभा चुनाव में किसी ने विश्वास नहीं किया. कांग्रेस देश की जनता का विश्वास खो चुकी है.
चाहे एक लाख देने की बात कहे चाहे कुछ भी कर ले. एक लाख देने का फॉर्म भरा रहे पैसा कहां से देंगे..? सब कांग्रेस छोड़कर भाग रहे हैं हमें प्रवेश कराने में दिक्कत हो रही है.

जितना गाली देंगे उतना हमें फायदा होगा : साय
प्रधानमंत्री मोदी पर दिए गए मल्लिकार्जुन खड़गे के बयान को लेकर सीएम ने पलटवार किया है. उन्होंन कहा, यह मोदी जी को जितना गाली देंगे उतना ही हमको फायदा है. ये मोदी जी को क्या क्या नहीं बोले, मौत का सौदागर चौकीदार चोर है, 2014 में नेता प्रतिपक्ष बनने की इनकी औकात नहीं थी. देश की जनता ने यहां तक पहुंचा दिया है. इस बार भी इनकी औकात नहीं रहेगी.

डिलिस्टिंग के लिए कानून बनाने की मांग
सुरक्षा मंच के पदाधिकारियों ने कहा, जशपुर बस्तर समेत आदिवासी क्षेत्रों में जमकर धर्मान्तरण हो रहा. नई सरकार आने के बाद धर्मान्तरण में थोड़ी कमी आई है. डिलिस्टिंग के लिए कानून बनाया जाए. नक्सल क्षेत्र में सरकार के काम की तारीफ भी की. पदाधिकारियों ने कहा, नई सरकार ने नक्सलियों को बैकफुट पर जाने मजूबर किया.

NewsVibe
NewsVibehttps://newsvibe.in/
NewsVibe.in - Latest Hindi news site for politics, business, sports, entertainment, and more. Stay informed with News Vibe.
RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular